सहजन पौधा

VERTIGO AGRICULTURE

सहजन पौधा

सहजन एक बहु उपयोगी पेड़ है। सहजन को मोरिंगा के नाम से भी जाना जाता है। इसका वानस्पतिक नाम मोरिंगा ओलिफेरा है। इसे हिंदी में सहजना, सुजना, सेंजन और मुनगा आदि नामों से जाना जाता है। सहजन को अंग्रेजी में ड्रमस्टिक भी कहा जाता है। इस पेड़ के सभी भाग फल, फूल, पत्तियों, बीजों में अनेक पोषक तत्व होते हैं। इसलिए इसका उपयोग कई प्रकार से किया जाता है। इसकी खेती करने से काफी लाभ प्राप्त होता है। यदि आप इसकी एक एकड़ में भी खेती करते हैं तो आपको 6 लाख रुपए की कमाई हो सकती है। सहजन के उत्पादन की खास बात ये हैं कि इसे बंजर जमीन में भी उगाया जा सकता है। वहीं किसी अन्य फसल के साथ भी इसकी खेती की जा सकती है। आज हम अपने किसान भाइयों को ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से सहजन की खेती की जानकारी दे रहे हैं और ये आशा करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए लाभदायक साबित होगी।

वॉयरस फ़्री फल
ताजा और स्वस्थ
100% ऑर्गेनिक और इनऑर्गेनिक
...

पौधे लगाने का सही समय

सहजन की एक हेक्टेयर में खेती करने के लिए 500 से 700 ग्राम बीज की मात्रा पर्याप्त होती है। बीज को सीधे तैयार गड्ढ़ो में या फिर पॉलीथीन बैग में तैयार कर गड्ढ़ों में लगाया जा सकता है। पॉलीथीन बैग में पौध एक महीना में लगाने योग्य तैयार हो जाता है।

...

सहजन की खेती से कितनी होगी कमाई

यदि आप एक एकड़ में करीब 1500 पौधे लगाते हैं। यदि और सहजन के पेड़ मोटे तौर पर 12 महीने में उत्पादन देते हैं। यदि पेड़ अच्छी तरह से बढ़े हैं तो 8 महीने में ही तैयार हो जाते हैं और कुल उत्पादन 3000 किलो तक हो जाता है। इस तरह से 7.5 लाख का उत्पादन हो सकता है। इस तरह आपको सहजन की खेती से करीब 6 लाख रुपए तक का फायदा हो सकता है।

कृषि विशेषज्ञों की सलाह
Vertigo Agriculture

Top